इन फिल्मों और वेब सीरीज में बेबाकी से दिखाया गया समलैंगिक रिश्तों का सच

 भारत देश में समलैंगिक रिश्तों पर कई बार बहस छिड़ चुकी है। इन रिश्तों को बारिकी से समझाने के लिए कई फिल्में और वेब सीरीज तक बनाई जा चुकी हैं। आइये जानते हैं उन फिल्मों और वेब शे को बारे में।

 समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्याता देने से जुड़े मुद्दे पर सोशल मीडिया से लेकर कोर्ट तक बहस जारी है। देश में हमेशा से ही यह मुद्दा गंभीर विषय बना रहा। बॉलीवुड में कुछ फिल्में बनी हैं, जो इस विषय पर लोगों की समझ को और गहरी करती हैं। समलैंगिक रिश्ते क्या होते हैं, बॉलीवुड में इस सब्जेक्ट पर कुछ फिल्में बनी हैं। न सिर्फ फिल्में, बल्कि ओटीटी पर एक्टिव रहने वालों के लिए वेब शो भी बनाए गए हैं।

ग्लैमर वर्ल्ड में ऐसी कई फिल्में बनी हैं, जहां मेकर्स ने एलजीबीटीक्यू कम्यूनिटी को एक्सप्लोर किया है। पहले इस तरह के कंटेंट पर बनी फिल्मों को लेकर बहस होती थी, लेकिन वक्त बदलने के साथ ही लोगों के विचार भी बदलने लगे हैं। फिर इंडियन सिनेमा में भी समलैंगिक रिश्तों को इस तरह दिखाया गया है, जिसने लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया हो। एक नजर डालते हैं ऐसी ही फिल्मों और साथ ही वेब सीरीज पर भी।

फायर

समलैंगिक रिश्तों की पड़ताल करती फिल्मों में सबसे पहले बात करेंगे 1996 में आई ‘फायर’ की। फिल्म की कहानी एक ऐसी महिला राधा (शबाना आजमी) की है, जो अपने पति से परेशान है। वह उससे प्यार नहीं करती। उसे अपनी खुशियां ननद (नंदिता दास) में मिलती है, जो कि उसकी तरह ही लड़कों में बिलकुल दिलचस्पी नहीं रखती। उस दौरान इस फिल्म को लेकर काफी राजनेताओं और फिल्म फ्रैटरनिटी के बीच बहस छिड़ गई थी।


अलीगढ़

2015 में आई हंसल मेहता की ‘अलीगढ़’ ने भी खूब चर्चा बटोरी थी। फिल्म में मनोज बाजपेयी ने प्रोफेसर का रोल किया था, जो गे है। इंडियन ऑडियंस ने उनकी परफॉर्मेंस पर खूब तालियां बजाई थीं। फिल्म में इस बात की कड़वी सच्चाई दिखाई गई है कि कैसे एक समलैंगिक व्यक्ति को अपनी पसंद का पार्टनर चुनने का अधिकार नहीं है। इसके लिए उसे समाज की कुरीतियों का सामना करना पड़ता है।


एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा

हिंदी सिनेमा में ‘स्त्री विमर्श’ मजबूती से अपनी पकड़ बना रहा है। स्वीटी की कहानी को दिखाती इस फिल्म में सोनम कपूर ने लेस्बियन लड़की का रोल प्ले किया था, जो समाज में अपने परिवार की इज्जत को बचाने के लिए खुद की आइडेंटिटी को छुपाए रखती है। अब तक सामाजिक कुरीतियों से बचती बचाती आई स्वीटी आखिरकार अपने सच को स्वीकार करते हुए खुद के लिए लड़ना शुरू कर देती है।


द मैरिड वुमन

आल्ट बालाजी की वेब सीरीज ‘द मैरिड वुमन’ की कहानी भी लेस्बियन सब्जेक्ट पर आधारित है। 90 के दशक की पारिवारिक पृष्ठभूमि को दिखाती इस वेब सीरीज की कहानी एक आदर्श पत्नी, बहू और मां के रूप में आस्था (रिद्धी डोगरा) की कहानी को दिखाती है, जिसके पास सबकुछ है, लेकिन अगर कुछ नहीं है,



तो वह है मन की खुशी।

सामान्य समाज के मानदंडो को तोड़कर वह खुद की खोज के लिए अपने सफर पर निकल जाती है। इस दौरान उसकी मुलाकात होती है पिप्लिका खान (मोनिका डागर) से, जो बैचलर है और उसकी ही तरह अपने लिए स्त्री पार्टनर की तलाश कर रही है। इस सीरीज में एक महिला के भीतर चल रहे उथल-पुथल को संवेदनशीलता के साथ दिखाया गया है।

बधाई दो

‘बधाई दो’ समलैंगिक पुरुष शार्दुल ठाकुर (राजकुमार राव) और समलैंगिक महिला सुमन सिंह (भूमि पेडनेकर) की कहानी है, जो अपने परिवारों को खुश करने के लिए एक-दूसरे से शादी कर लेते हैं। इनकी गर्दन पर हर वक्त तलवार लटकी रहती है, कि किसी को इनकी सच्चाई का पता लगा तो क्या होगा। हालांकि, बाद में दोनों अपने हक में लड़ने का फैसला करते हुए इस विषय पर पूर्ण विराम लगाने की सोचते हैं।



Leave a comment

आमिर खान के बेटे जुनैद खान की फिल्म “महाराज” ओटीटी पर 14 जून को रिलीज होगी खूंखार लुक के साथ हुई Bajaj Pulsar NS400 लांच, सिर्फ इतने प्राइस में बनाएं अपना कियारा आडवाणी की चमकी किस्मत हाथ लगी सलमान खान की अपकमिंग फिल्म सिकंदर वेलकम टू द जंगल में इन स्टार की हुई एंट्री करेंगे फिल्म में धमाल The Great Indian Kapil Show: कपिल के शो में विक्की और सनी कौशल ने खोली एक दूसरे की पोल, हंस हंसकर लोट पोट हुए लोग