बर्बादी की कगार पर है केरल, भाजपा नेता केजे अल्फोंस का दावा

केरल के भाजपा नेता केजे अल्फोंस ने केरल की आर्थिक स्थिति को लेकर दावा किया है कि राज्य बेहद खराब आर्थिक स्थिति से गुजर रहा है। साथ ही उन्होंने दावा किया है कि केरल ने देश में सबसे ज्यादा कर्ज लिया है। उन्होंने कहा कि साल 2019 से 70 हजार पेंशनर्स को अतिरिक्त डीए का भुगतान नहीं हो सका है। कोई राज्य ऐसे नहीं चल सकता।

केरल के भाजपा नेता ने कहा कि केरल की आर्थिक स्थिति बेहद खराब

HIGHLIGHTSकेरल के भाजपा नेता ने दावा किया कि केरल की आर्थिक स्थिति बेहद खराब
देश में सबसे ज्यादा कर्ज केरल ने लिया- भाजपा नेता अल्फोंस

केरल के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता केजे अल्फोंस ने शनिवार को कहा कि केरल राज्य की वित्तीय स्थिति बहुत खराब है और राज्य पर देश में सबसे ज्यादा कर्ज है।

‘केरल सरकार लगातार कर्ज ले रही’

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए, केजे अल्फोंस ने कहा, “केरल आर्थिक रूप से बहुत खराब स्थिति में है। यह आर्थिक रूप से एक खंडहर हो चुका है। पेंशन देने के लिए पैसे नहीं हैं। अतिरिक्त महंगाई भत्ता (डीए) प्राप्त किए बिना 2019 से 70,000 पेंशनभोगियों की मृत्यु हो गई है। केरल ने देश में सबसे ज्यादा कर्ज लिया है। कोई राज्य इस तरह कैसे जीवित रह सकता है?” उन्होंने कहा, “केरल सरकार लगातार कर्ज ले रही है और राज्य की भावी पीढ़ियों पर भारी बोझ डाल रही है।”

‘भारी असमानता है और यह भेदभाव’

इससे पहले शुक्रवार को केरल के वित्त मंत्री केएन बालगोपाल ने कहा था कि राज्य को केंद्र से राजस्व हिस्सेदारी नहीं मिल रही है। उन्होंने कहा, “केरल को केंद्र से वित्तीय प्रतिबंधों का सामना करना पड़ रहा है। केरल केंद्र को लगभग 70 प्रतिशत राजस्व का भुगतान कर रहा है और 30 प्रतिशत से भी कम राजस्व केंद्र से आ रहा है। इसमें भारी असमानता है और यह भेदभाव है।”
‘राज्य के लिए एक गंभीर मुद्दा’

बालगोपाल ने आरोप लगाया कि यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) के सांसद केंद्र के खिलाफ इस मुद्दे पर राज्य सरकार का समर्थन नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “केरल में यूडीएफ सांसदों के मामले में हमें बेहद खराब अनुभव हुआ। लोकसभा में यूडीएफ के 18 सांसद हैं। जब मुख्यमंत्री ने यूडीएफ सांसदों से मुलाकात की तो, यह निर्णय लिया गया कि केंद्रीय वित्त मंत्री को एक ज्ञापन दिया जाएगा और वे सभी इस पर सहमत हुए।”

उन्होंने कहा, “ज्ञापन तैयार किया गया था और फिर यूडीएफ और अन्य कांग्रेस सांसद ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने के अनिच्छुक थे और नहीं गए। वे राज्य के हित के खिलाफ गए, यह एक बहुत गंभीर मुद्दा है।”
‘राज्य में भ्रष्टाचार एक प्रमुख मुद्दा’

इस बीच, वरिष्ठ कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला ने शुक्रवार को केरल के वित्त मंत्री केएन बालगोपाल पर राज्य के वित्त का प्रबंधन करने में विफलता का आरोप लगाया। उन्होंने मीडिया के सामने कहा, “केरल के वित्त मंत्री केएन बालगोपाल केरल के वित्त स्रोत के प्रबंधन में पूरी तरह से विफल रहे हैं। असल में केरल अब कर्ज के जाल में फंस गया है। सरकार को पता नहीं है कि इससे कैसे उबरा जाए। फिजूलखर्ची को ठीक नहीं किया गया है। राज्य में भ्रष्टाचार एक प्रमुख मुद्दा है।”
कांग्रेस सांसदों को दोषी ठहराना गलत

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि वित्तीय प्रबंधन में पूर्ण विफलता ने राज्य के वित्तीय क्षेत्र में तबाही मचा दी है। चेन्निथला ने कहा, “फिर भी, वह कांग्रेस सांसदों को दोषी ठहरा रहे हैं। मुझे आश्चर्य है कि वह इस मुद्दे पर कांग्रेस सांसदों को कैसे दोषी ठहरा सकते हैं। हम राज्य में शासन नहीं कर रहे हैं और जब भी समय आएगा हम इस मुद्दे को संसद में उठा रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “हमारे सांसद राज्य को अधिक वित्तीय संसाधन देने के बारे में संसद में बहुत मुखर हैं। यह हमारा सामान्य रुख है, वित्त आयोग की रिपोर्ट मांगने के लिए, केरल को केंद्र से अधिक से अधिक समर्थन की आवश्यकता है।”

Leave a comment

आमिर खान के बेटे जुनैद खान की फिल्म “महाराज” ओटीटी पर 14 जून को रिलीज होगी खूंखार लुक के साथ हुई Bajaj Pulsar NS400 लांच, सिर्फ इतने प्राइस में बनाएं अपना कियारा आडवाणी की चमकी किस्मत हाथ लगी सलमान खान की अपकमिंग फिल्म सिकंदर वेलकम टू द जंगल में इन स्टार की हुई एंट्री करेंगे फिल्म में धमाल The Great Indian Kapil Show: कपिल के शो में विक्की और सनी कौशल ने खोली एक दूसरे की पोल, हंस हंसकर लोट पोट हुए लोग