हटाये गये कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा

याचिकाकर्ता बोले- काले पत्थर का शिवलिंग, ऊपर अलग से लगाई ईंट
ज्ञानवापी मामले की याचिकाकर्ता के पति और सर्वे टीम का हिस्सा रहे सोहनलाल आर्य का दावा हैकि वजूखाने में जो स्ट्रक्चर पाया गया है वह पूरा काले पत्थर का बना है। इसके अलावा ऊपर से ईंट सीमेंट से चिपकाई है
ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग के दावे पर तरह-तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं। मुस्लिम पक्ष का कहना है कि यह शिवलिंग नहीं बल्कि वजूखाने में लगा फव्वारा है। वहीं हिंदू पक्ष के मुताबिक यह शिवलिंग है। आजतक चैनल पर याचिकाकर्ता के पति और सर्वे टीम में शामिल सोहनलाल यादव ने एक और बड़ा दावा किया। उन्होंने कहा कि यह स्ट्रक्चर इसलिए शिवलिंग जैसा है क्योंकि यह पुरा कालेपत्थर का बना है। इसके अलावा इसके बीच में कोई छेद नहीं है जिससे कि इसे फव्वारा माना जा सके।
सोहनलाल आर्य ने कहा, तथाकथित शिवलिंग के ऊपर सीमेंट से एक चौकोर ईंट चिपकाई गई है। जिसपर एक प्लस का निशान बना हुआ है। उन्होंने दावा किया कि सर्वे के दौरान झाड़ू की सींक डालकर देखा गया तो यह 6 इंच तक अंदर गई। लाइट लगाकर देखा गया, 6 इंच से ज्यादा सींक नहीं गई।
उन्होंने कहा, सर्वे के दौरान जब मुस्लिम पक्ष से पूछा गया कि क्या कहीं से यहां पानी लाने के लिए पाइप लगाई गई है तो लोगों ने कहा नहीं कोई पाइप नहीं लगाई गई है। सोहनलाल ने दावा किया कि नंदी से वजूखाने की दूरी 83 फीट की है। बीच में कृत्रिम दीवारें हैं। नंदी का मुंह सीधा शिवलिंग की तरफ है। 
सोहनलाल के दावों को खारिज करते हुए मुस्लिम पक्ष के वकील अजयनाथ यादव ने कहा, पहली बार सोहनलाल खुद याचिकाकर्ता नहीं हैं। उन्होंने बताया कि यहां शिवलिंग की तरह का स्ट्रक्चर है। पत्थरनुमा आकृति पहले मंजिल पर है। उसके नीचे तहखाना है। तहखाने में जमीन में गड़ा कोई शिवलिंग नहीं मिला है। अभी तक कोर्ट में रिपोर्ट सब्मिट नहीं की गई है, उससे पहले ही ये लोग बाबा मिल गए का दावा करते हैं।
ज्ञानवापी मामले में दोनों पक्षों के बीच हुई तीखी बहस के बीच सुनवाई पूरी हुई। बहस के बाद कोर्ट ने इस मामले में सर्वे के लिए नियुक्त कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा को हटा दिया है। उनकी जगह बाकी दो कमिश्नर विशाल सिंह और अजय प्रताप सिंह सर्वे की फाइनल रिपोर्ट पेश करेंगे। कोर्ट ने इन्हें रिपोर्ट पेश करने के लिए दो दिनों का समय दिया है। बता दें कि ज्ञानवापी मामले में आज तीनों कोर्ट कमिश्‍नरों ने सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में समय बढ़ाने की अर्जी लगाई थी। सहायक कोर्ट कमिश्‍नर अजय सिंह ने मीडिया को बताया कि अभी रिपोर्ट तैयार नहीं हो पाई है।
इस बीच वादी की ओर से एक अर्जी दी गई कि शृंगार गौरी की ओर बंद दीवार हटाई जाए और नंदी के सामने बंद तहखाने के सर्वे के लिए कोर्ट कमिश्‍नर नियुक्‍त किया जाए। वहीं कोर्ट कमिश्‍नर की सर्वे रिपोर्ट पेश होने से पहले शासकीय अधिवक्‍ता ने एक और याचिका दाखिल कर दी। उन्होंने कोर्ट से दरख्वास्त किया है कि वजूखाना के सील होने के कारण उसमें लगे नल और पानी की पाइप लाइन को अलग किया जाये।
इस बीच हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने याचिका दी है। उधर, हिंदू सेना ने ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे पर रोक लगाने की मांग के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की है। हिंदू सेना ने याचिका को जुर्माने के साथ खारिज करने और मामले में उन्हें पक्षकार बनाए जाने की मांग की है।

Leave a comment

आमिर खान के बेटे जुनैद खान की फिल्म “महाराज” ओटीटी पर 14 जून को रिलीज होगी खूंखार लुक के साथ हुई Bajaj Pulsar NS400 लांच, सिर्फ इतने प्राइस में बनाएं अपना कियारा आडवाणी की चमकी किस्मत हाथ लगी सलमान खान की अपकमिंग फिल्म सिकंदर वेलकम टू द जंगल में इन स्टार की हुई एंट्री करेंगे फिल्म में धमाल The Great Indian Kapil Show: कपिल के शो में विक्की और सनी कौशल ने खोली एक दूसरे की पोल, हंस हंसकर लोट पोट हुए लोग