On This Day: दुनिया का एकमात्र क्रिकेटर, जिसने खेला देश का पहला और 100वां टेस्‍ट

On This Day

    क्रिकेट अनिश्चितताओं से भरा एक खेल है। इस खेल में कब क्या हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। रातोंरात किस खिलाड़ी की किस्मत चमक जाए ये किसी को नहीं पता रहता है। इस खेल में अब तक कई ऐसे खिलाड़ी देखे गए है जिन्होंने अपने टैलेंट के दम पर ऐसे रिकॉर्ड्स बनाए है जो हमेशा-हमेशा के लिए अमर रहेंगे।

    क्रिकेट अनिश्चितताओं से भरा एक खेल है। इस खेल में कब क्या हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। रातोंरात किस खिलाड़ी की किस्मत चमक जाए ये किसी को नहीं पता रहता है।

    इस खेल में अब तक कई ऐसे खिलाड़ी देखे गए है, जिन्होंने अपने टैलेंट के दम पर ऐसे रिकॉर्ड्स बनाए है जो हमेशा-हमेशा के लिए अमर रहेंगे, लेकिन क्या आपको पता है एक खिलाड़ी एक भी है, जिन्होंने अपने देश के लिए पहला और 100 टेस्ट मैच खेला।

    दुनिया में ये खिलाड़ी एकलौता ऐसा प्लेयर है, जिसने ये अनमोल उपलब्धि हासिल की। ये और कोई नहीं, श्रीलंका के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा ही है।

    Arjuna Ranatunga ने खेला श्रीलंका के लिए पहला और 100वां टेस्ट मैच

    दरअसल, श्रीलंका के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा (Arjun Ranatunga) का जन्म 1 दिसंबर,1963 में गमपाहा, सीलोन (श्रीलंका) में एक राजनीतिक परिवार में हुआ था। अर्जुन श्रीलंका के जाने-माने राजनेता रेगी के बेटे हैं। राजनीति परिवार से ताल्लुक रखने वाले इस प्लेयर ने क्रिकेट में भी अपने नाम कई उपलब्धियां हासिल की।

    18 साल की उम्र में रणतुंगा ने कोलंबो में श्रीलंका के लिए पहला टेस्ट मैच खेला था। उस मैच में उन्होंने 54 रन बनाए थे और वह इस तरह टेस्ट मैच में पहला अर्धशतक ठोकने वाले पहले श्रीलंकाई बने।

    इसके साथ ही उन्होंने आज ही के दिन यानी 10 अगस्त को श्रीलंका के लिए 100वां टेस्ट मैच खेला। वह दुनिया में एकमात्र ऐसे क्रिकेटर बने, जिन्होंने अपने देश के लिए पहला और 100वां टेस्ट मैच खेला।

    10 अगस्त को खेला था टेस्ट का आखिरी मैच

    बता दें कि 6 अगस्त से 19 अगस्त तक कोलंबो के सिंहली स्पोर्ट्स क्लब में दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के बीच तीसरा टेस्ट मैच खेला गया। इस दौरान पहली पारी में दक्षिण अफ्रीका ने 279 रन बनाए थे। इसके जवाब में श्रीलंका ने 98.2 ओवर खेलते हुए 258 रन बनाए।

    सलामी बल्लेबाज सनथ जयसूर्या दूसरी पारी में श्रीलंका के प्रमुख खिलाड़ी रहे, जिन्होंने 85 रनों की पारी खेली। ये मैच रणतुंगा का आखिरी टेस्ट रहा, जिसमें उन्होंने नाबाद 28 रन बनाए। हालांकि, मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ था।

    ऐसा रहा अर्जुन का क्रिकेट करियर

    बता दें कि श्रीलंका टीम की कप्तानी करते हुए उन्होंने (Arjuna Ranatunga) 1996 में टीम को पहला विश्व कप जिताया था। विश्व कप में उन्होंने अधिकतम औसत 120 के साथ टूर्नामेंट में 241 रन बनाए। वनडे में 193 मैचों में कप्तानी करते हुए अर्जुन ने 89 जीते है और 95 मै में हार का सामना किया।

    वहीं, टेस्ट में कप्तानी करते हुए 56 मैच में से 12 मैचों में जीत हासिल की और 19 में हार झेली। अर्जुन रणतुंगा ने 93 टेस्ट मैचों में 5105 रन बनाए और 16 विकेट हासिल किए। वनडे में 269 मैचों में 7456 रन बनाने के साथ 79 विकेट चटकाए।

    daily एपिसोड रिटेन अपडेट के लिया bharatinexpress को फॉलो करे।

    Leave a comment

    आमिर खान के बेटे जुनैद खान की फिल्म “महाराज” ओटीटी पर 14 जून को रिलीज होगी खूंखार लुक के साथ हुई Bajaj Pulsar NS400 लांच, सिर्फ इतने प्राइस में बनाएं अपना कियारा आडवाणी की चमकी किस्मत हाथ लगी सलमान खान की अपकमिंग फिल्म सिकंदर वेलकम टू द जंगल में इन स्टार की हुई एंट्री करेंगे फिल्म में धमाल The Great Indian Kapil Show: कपिल के शो में विक्की और सनी कौशल ने खोली एक दूसरे की पोल, हंस हंसकर लोट पोट हुए लोग