Onam 2023 : ओणम का त्योहार क्यों मनाया जाता है?

Onam 2023 : ओणम को दो वजहों से सेलिब्रेट किया जाता है. पहली वजह है के दानवीर असुर राजा महाबलि से जुड़ी है  दूसरी वजह यहां  कि इसे किसान नए फसल के बेहतर उपज के लिए मनाते हैं. इस दिन केरल में प्रसिद्ध सर्प नौका दौड़ और कथकली नृत्य का आयोजन किया जाता है. 

Onam 2023

ओणम 2023: तिथि और समय

Thiruvonam Nakshatram Begins – August 29, 2023 – 02:43 AM

Thiruvonam Nakshatram Ends – August 30, 2023 – 11:50 PM

ओणम का त्योहार कब और कहां मनाया जाता है?

इस लेख में सन्दर्भ या स्रोत नहीं दिया गया है। ओणम केरल का एक प्रमुख त्योहार है। ओणम का उत्सव चिंगम (सिंघम/सिंहम्) मास में भगवान वामन की जयन्ती और राजा बलि के स्वागत में प्रति वर्ष आयोजित किया जाता है जो दस दिनों तक चलता है। उत्सव त्रिक्काकरा (कोच्ची के पास) केरल के एक मात्र वामन मन्दिर से प्रारम्भ होता है।

ओणम पर्व का दूसरा नाम क्या है?

थिरुवोणम दो शब्दों से मिलकर बना है, थिरु और ओणम। थिरु का अर्थ है पवित्र और ओणम पर्व का नाम है। मान्यता है कि इस दिन राजा महाबली पाताल लोक से धरती पर अपनी प्रजा को आशीर्वाद देने के लिए आते हैं, जिसकी खुशी में यह त्योहार मनाया जाता है

ओणम त्योहार की कहानी क्या है?

हिंदू किंवदंतियों के अनुसार, ओणम केरल में एक पौराणिक राजा दैत्य राजा महाबली के शासन के तहत सुशासन की याद में मनाया जाता है, जिन्होंने कभी केरल पर शासन किया था। किंवदंती है कि महाबली की लोकप्रियता और उनकी शक्ति से ईर्ष्या करते हुए, देवताओं और देवताओं ने उनके शासन को समाप्त करने की साजिश रची।

ओणम कितने दिन का होता है?

Importance Of Onam Festival: ओणम का पर्व 12 दिनों तक मनाया जाता है लेकिन मुख्य रूप यह पर्व 10 दिन का होता है। ओणम का त्योहार 20 अगस्त से शुरू हो रहा है और 31 अगस्त तक चलेगा। इसके पहले दिन को अथम और दसवें दिन को थिरुवोणम कहा जाता है।

Leave a comment

आमिर खान के बेटे जुनैद खान की फिल्म “महाराज” ओटीटी पर 14 जून को रिलीज होगी खूंखार लुक के साथ हुई Bajaj Pulsar NS400 लांच, सिर्फ इतने प्राइस में बनाएं अपना कियारा आडवाणी की चमकी किस्मत हाथ लगी सलमान खान की अपकमिंग फिल्म सिकंदर वेलकम टू द जंगल में इन स्टार की हुई एंट्री करेंगे फिल्म में धमाल The Great Indian Kapil Show: कपिल के शो में विक्की और सनी कौशल ने खोली एक दूसरे की पोल, हंस हंसकर लोट पोट हुए लोग